IPL 2022 Playoffs: गुजरात की जगह पक्की, बाकी 3 स्थानों के लिए 8 टीमों के बीच जंग; जानिए गणित

0
7


Image Source : IPL
IPL 2022 के प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बनी गुजरात टाइटंस

Highlights

  • IPL 2022 के प्लेऑफ में पहुंचने वाली पहली टीम बनी गुजरात टाइटंस
  • लखनऊ प्लेऑफ में जगह पक्की करने से एक कदम दूर
  • राजस्थान और आरसीबी का भी प्लेऑफ में जाने का समीकरण अच्छा

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 का लीग चरण अपने अंतिम पड़ाव में पहुंच चुका है। 22 मई को आखिरी लीग मैच खेला जाएगा। मौजूदा समय में गुजरात टाइटंस इकलौती ऐसी टीम बन गई है जिसने प्लेऑफ (Playoffs) में अपनी जगह पक्की कर ली है। वहीं मुंबई इंडियंस 11 में से 9 मैच हारकर इस रेस से बाहर है। बाकी सभी 8 टीमों के बीच बचे हुए तीन स्थानों के लिए जंग है। प्लेऑफ के मुकाबले 24, 25 और 27 मई को खेले जाएंगे। फाइनल मुकाबला 29 मई को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में होगा।

 

आईपीएल के मौजूदा सीजन में दो नई टीमों ने हिस्सा लिया जिसमें से एक गुजरात टाइटंस ने प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर ली है। वहीं दूसरी टीम लखनऊ सुपर जायंट्स प्लेऑफ की कगार पर है। लखनऊ के दो मैच बाकी हैं और अगर टीम दोनों हार भी जाती है तो भी उसके चांस बरकरार रहेंगे। लेकिन इसके पीछे भी कुछ शर्ते हैं। वो हम आपको बताएंगे पूरे गणित में। लेकिन यह जानना जरूरी है कि आईपीएल में कभी भी 8 मैच जीतने वाली टीम टॉप-4 से बाहर नहीं रही है।

 

क्या है प्लेऑफ का पूरा गणित?

 

सबसे पहले बात करते हैं लखनऊ सुपर जायंट्स की जिसके दो लीग मैच अभी बाकी हैं। अगर केएल राहुल की टीम इसमें से एक भी जीत जाती है तो बिना किसी चिंता के टीम प्लेऑफ में जगह बना लेगी। लेकिन अगर टीम दोनों मैच हारती है तो उसे नेट रन रेट और राजस्थान, दिल्ली, हैदराबाद वह पंजाब की हार पर नजर रखनी होगी। उधर दिल्ली, पंजाब और हैदराबाद एक भी मैच हारती है तो केकेआर और सीएसके की बराबरी पर आ जाएगी।

IPL 2022 Points Table: गुजरात की प्लेऑफ में एंट्री, लखनऊ को हुआ नुकसान; यहां देखें प्वाइंट्स टेबल का पूरा हा

यानी अधिकतम यह टीमें 7 मैच ही जीतने की स्थिति में होंगी। इस कंडीशन में राजस्थान और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को फायदा मिलेगा। आरसीबी के दो मैच बाकी हैं और राजस्थान के तीन मैच और होने हैं। यह टीमें एक-एक जीत दर्ज करके लखनऊ की बराबरी कर लेंगे। यानी उस स्थिति में अधिकतम 7 मैच जीतने वाली सभी टीमें बाहर हो जाएंगी। लेकिन अगर हैदराबाद, दिल्ली और पंजाब बचे हुए सभी मुकाबले जीतती हैं तब नेट रन रेट अहम भूमिका निभाएगा।

 

सीएसके और केकेआर की कितनी उम्मीदें?

 

हम पहले भी बात कर चुके हैं कि सीएसके और केकेआर अगर बचे हुए सभी मैच भी जीतती हैं तो उनके 14-14 अंक होंगे। दोनों का नेट रन रेट तो मायने रखेगा ही। साथ ही उनकी उम्मीदें तभी पुख्ता होंगी जब बाकी टीमें 8 मैच ना जीत पाएं या सीधी भाषा में 16 पॉइंट्स तक ना पहुंचे और मुकाबले हार जाएं। यह बाकी टीमें हैं हैदराबाद, पंजाब, दिल्ली, आरसीबी। राजस्थान का नाम इसलिए नहीं क्योंकि टीम को सिर्फ तीन में से एक मैच जीतना है 8 के लिए।

 

 

पॉइंट्स टेबल का ताजा हाल क्या है?

 

फिलहाल मौजूदा स्थिति पॉइंट्स टेबल की इस प्रकार है कि गुजरात 12 में से 9 मैच जीतकर 18 अंकों के साथ प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर चुकी है। लखनऊ दूसरे स्थान पर 16 अंक यानी 8 जीत के साथ है और उसके दो मैच बाकी हैं। राजस्थान के 14 अंक हैं और टीम तीसरे स्थान पर है। आरसीबी ने 12 में से 7 मैच जीते हैं और 14 अंकों के साथ चौथे स्थान पर है। यह हैं अभी तक की टॉप-4 टीमे। यहां देखें पॉइंट्स टेबल का पूरा हाल।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here